Entertainment

Ritesh-Farhan’s Excel Entertainment is spending 3-5 lakhs a day to escape the corona, stringent every arrangements made for security | रितेश-फरहान के एक्‍सेल एंटरटेनमेंट में कोरोना से बचने के लिए रोजाना खर्च किए जा रहे हैं 3-5 लाख रुपए, सुरक्षा के लिए सेट पर किए गए कड़े इंतजाम

  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Ritesh Farhan’s Excel Entertainment Is Spending 3 5 Lakhs A Day To Escape The Corona, Stringent Every Arrangements Made For Security

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • जेडब्‍ल्‍यू मैरिएट से आ रहा खाना, हर गाड़ी की हो रही स्‍मोक मशीन से सैनिटाइजेशन
  • सेट पर आने वाले हर शख्स को तीन चैनलों से गुजरना होता है

एक्‍सल एंटरटेनमेंट ने मौजूदा परिस्थितियों में भी शूटिंग के लिए कमर कस ली है। डोंगरी टू दुबई किताब पर उस बैनर से वेब शो बनने वाला है जिसकी बची हुई शूटिंग पूरी होनी है। इसके साथ ही बैनर से विज्ञापनों की शूटिंग जारी हैं। वहां सेट पर मौजूद प्रोडक्‍शन के लोगों ने बताया कि सेट पर सिर्फ कोरोना एहतियात के इंतजामों पर कुल तीन से पांच लाख रुपए रोजाना खर्च हो रहे हैं। उन्‍होंने इसकी डिटेल दैनिक भास्‍कर से शेयर की है।

उन्‍होंने कहा, ‘सेट पर अलग-अलग चेक पॉइंट्स बनाए गए हैं। पहले चेक पॉइंट पर गाडि़यां, ऑटो, मिनी ट्रक्‍स को और शूटिंग में काम आने वाली इक्विपमेंट्स को सैनिटाइज किया जाता है। एक्‍टर्स को टच करने से पहले मेकअप, हेयर वालों को पूरे दिन पीपीई सूट में रहना पड़ता है। जगह-जगह सेट पर कोविड से बचने के उपाय से संबंधित नोटिस बोर्ड लगे हुए हैं। खाना खासतौर पर तीन लेयर की पैकिंग में पांच सितारा होटल मैरिएट से आ रहे हैं।

सेट पर मौजूद हर शख्स को तीन चैनलों से गुजरना पड़ता है

  • पहले वाले में लेजर गन से सबकी थर्मल चेकिंग हो रही है।
  • उसके बाद लोगों को सैनिटाइजेशन टनल से गुजरना पड़ता है।
  • हाथों को सैनिटाइज करने के बाद ऑक्‍सी लेवल चेक हो रहा है। सारे दस्‍तावेजों को रजिस्‍टर में रिकॉर्ड किया जा रहा है।

सेट पर बनाया गया कोविड आइसोलेशन रूम

इन सबके अलावा लोकेशन पर पीपीई किट्स, गलव्‍स, मास्‍क, फेस शील्‍ड की अच्‍छी खासी खेप रखी गई है। सेट के अंदर आने वालों के हाथों में ग्रीन कलर के रिस्‍ट बैंड लैस करवाए जाते हैं। इन सबके बावजूद अगर सेट पर किसी को परेशानी महसूस होती है या फिर अगर ऑक्‍सी लेवल तय सीमा से कम है तो उसे सेट पर मौजूद कोविड आइसोलेशन रूम में पहुंचा दिया जाता है। वहां से फिर कोविड इमरजेंसी गाड़ी से संबंधित शख्‍स को सीधे हॉस्‍पिटल भेजने की व्‍यवस्‍था भी है।

एक्‍सेल इस तरह की चाक चौबंद व्‍यवस्‍था के बारे में एक्‍टर और प्रोड्यूसर बिरादरी के बीच जानकारी सर्कुलेट भी कर रहे हैं। ताकि उनके अपकमिंग प्रोजेक्‍ट्स के लिए शूट करने कोई आएं तो लोग सेफ फील कर सकें।

ट्रेड पंडितों का कहना है कि प्रोडक्‍शन हाऊसों के बीच होड़ मची हुई है। वे अपने सेट पर शॉर्ट फिल्‍मों की शूट होने पर भी उसकी जानकारी पब्लिक कर रहे हैं। चाक चौबंद व्‍यवस्‍था दिखाकर वो प्रोड्यूसरों और एक्‍टर्स में भरोसा कायम करना चाह रहे हैं कि कोविड के खतरों के बीच भी आसानी से शूटिंग हो सकती है।

0


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close