Sports

Indian Swimmer Tokyo Olympic Qualified Training Swimming Federation of India Sports Authority Virdhawal Khade News Updates | ओलिंपिक क्वॉलिफाई कर चुके स्विमर को ट्रेनिंग की परमिशन नहीं, फेडरेशन ने कहा- जब बॉडी कॉन्टैक्ट गेम्स को परमीशन तो स्विमिंग को क्यों नहीं?

  • स्विमिंग फेडरेशन के सेक्रेटरी मोनल चौकसी ने कहा- ओलिंपिक के लिए 6 स्विमर क्वालिफाई कर चुके हैं
  • इनमें वीरधवल खाड़े, सज्जन प्रकाश, श्रीहरि नटराज, कुशाग्र रावत, एसपी लिखिथ और अद्वैत पागे शामिल

राजकिशोर

राजकिशोर

Jul 12, 2020, 04:48 PM IST

कोरोनावायरस के बीच भारतीय खेल और गृह मंत्रालय ने स्वीमिंग समेत कुछ गेम्स को छोड़कर लगभग सभी स्पोर्ट्स ट्रेनिंग सेशन को मंजूरी दे दी है। ऐसे में स्वीमिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के सेक्रेटरी मोनल चौकसी ने ट्रेनिंग की अनुमति के लिए दोनों मंत्रालयों को लेटर लिखा है।

चौकसी ने भास्कर से कहा कि अब तक 6 स्विमर टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं। टोक्यो गेम्स अगले साल ही होने हैं, ऐसे में इन एथलीट्स को बेहतर तैयारी के लिए ट्रेनिंग की परमीशन देनी चाहिए।

शॉपिंग मॉल भी खुल चुके, फिर ट्रेनिंग कैंप को मंजूरी क्यों नहीं?
चौकसी ने कहा, ‘‘बॉक्सिंग जैसे बॉडी कॉन्टैक्ट गेम्स के ट्रेनिंग कैंप को परमीशन मिल चुकी है। जबकि हम कई बार मंत्रालय और स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) के अधिकारियों से परमीशन के लिए गुहार लगा चुके हैं। हमें अब तक परमीशन नहीं मिली है। जबकि अनलॉक टू में शॉपिंग मॉल को भी खोलने का परमीशन दी जा चुकी है।’’

यह 6 स्विमर ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके
चौकसी ने बताया कि 6 स्विमर ओलिंपिक के बी क्वालिफिकेशन का कोटा हासिल कर चुके हैं। इनमें वीरधवल खाड़े, सज्जन प्रकाश, श्रीहरि नटराज, कुशाग्र रावत, एसपी लिखिथ और अद्वैत पागे शामिल हैं। हमने केवल इन्हीं 6 स्विमर को परमीशन देने की मांग की गई है।

बेंगलुरु साई सेंटर में नियमों के पालन में नहीं होगी दिक्कत
चौकसी ने कहा, ‘‘साई का बेंगलुरु में एक्सीलेंस सेंटर है। यहां पर हर प्रकार की सुविधा है। इसी सेंटर में स्विमर के लिए ट्रेनिंग कैंप लगाने की मांग की है। यहां पर कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करने में कोई परेशानी नहीं होगी। यहां पर स्टाफ काफी संख्या में है। ऐसे में स्विमर के लिए अलग से कोई ज्यादा व्यवस्था करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।’’

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही परमीशन दें
उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग से पहले स्विमर को 14 दिन क्वारैंटाइन रखा जाए और उनका कोरोना टेस्ट निगेटिव आने के बाद ही परमीशन मिले। ऐसे में कोरोना के संक्रमण की संभावना बहुत कम होगी।

एशियन गेम्स मेडलिस्ट वीरधवल लगा चुके हैं गुहार
एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले तैराक वीरधवल खाड़े कह चुके हैं कि ट्रेनिंग के लिए जल्द पूल नहीं खोले गए तो संन्यास के बारे में सोचना पड़ेगा। उन्होंने कहा था कि अगर स्विमर को ट्रेनिंग शुरू करने की परमीशन नहीं मिली तो ओलिंपिक की तैयारी में काफी परेशानी होगी।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close