Sports

Fantasy Sports Revenue IPL 2020 and Indian cricket fantasy Sports industry MS Dhoni News Updates | एक साल में तीन गुना बढ़ा रेवेन्यू, लोगों ने एक साल में गेम खेलने पर 16 हजार 500 करोड़ रुपए खर्च कर दिए

  • फेडरेशन ऑफ इंडियन फैंटेसी स्पोर्ट्स और केपीएमजी की रिपोर्ट, 3 साल में यूजर्स 20 लाख से बढ़कर 9 करोड़ हुए
  • बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली माई-11 सर्कल, वीरेंद्र सहवाग माई टीम-11 और युवराज सिंह बल्लेबाजी के ब्रांड एंबेसेडर

दैनिक भास्कर

Jul 12, 2020, 09:32 AM IST

कोरोनावायरस के कारण महीनों तक दुनियाभर के स्पोर्ट्स बंद थे। लेकिन देश में फैंटेसी स्पोर्ट्स के बिजनेस में कोई खास फर्क नहीं पड़ा। फेडरेशन ऑफ इंडियन फैंटेसी स्पोर्ट्स (एफआईएफएस) और केपीएमजी की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले एक साल में फैंटेसी स्पोर्ट्स का रेवेन्यू लगभग तीन गुना बढ़ा। 2018-19 में रेवेन्यू 920 करोड़ था, जो 2019-20 में बढ़कर 2470 करोड़ रुपए हो गया।

2019-20 में कॉन्टेस्ट एंट्री पर 16,500 करोड़ खर्च हुए। 2018-19 में यह 6 हजार करोड़ था। 2016 में 10 फैंटेसी ऑपरेटर्स थे, 2019 में 140 हो गए।

ड्रीम-11 के सबसे ज्यादा 7.5 करोड़ यूजर्स
फैंटेसी स्पोर्ट्स के यूजर्स की बात की जाए तो ड्रीम-11 के सबसे ज्यादा 7.5 करोड़ यूजर्स हैं। पूर्व कप्तान एमएस धोनी इसके ब्रांड एंबेसेडर हैं। 2018-19 में इसका रेवेन्यू लगभग 775 करोड़ रुपए था। इस दौरान फैंटेसी स्पोर्ट्स कंपनी ने एड और प्रमोशन पर 785 करोड़ रुपए खर्च किए। ड्रीम-11 बीसीसीआई और आईपीएल का मुख्य स्पॉन्सर भी है।

इसके अलावा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली माई-11 सर्कल, वीरेंद्र सहवाग माई टीम-11 और युवराज सिंह बल्लेबाजी के ब्रांड एंबेसेडर हैं। अगर इस साल आईपीएल नहीं होता है तो रेवेन्यू में 30 से 40 फीसदी की कमी आ सकती है।

85 फीसदी लोगों ने पैसे क्रिकेट पर लगाए
क्रिकेट देश का सबसे पसंदीदा खेल है। 2019 में लोगों ने सबसे ज्यादा 85 फीसदी राशि क्रिकेट पर लगाई। हालांकि पिछले तीन साल में फुटबॉल और कबड्डी के कारण इसमें गिरावट आई है। 2016 में लगभग 95 फीसदी राशि क्रिकेट पर लगती थी। ड्रीम-11 के को-फाउंडर हर्ष जैन ने बताया, ‘कोरोना के कारण खेल लगभग बंद हो गया था।

तब भारतीय फैंस ने फैंटेसी स्पोर्ट्स के द्वारा बेलारूस फुटबॉल, तजाकिस्तान बास्केटबॉल और ताइवान बेसबॉल की ओर रुख किया।’ फैंटेसी लीग में आईपीएल का बड़ा हिस्सा होता है, लेकिन इस बार कोविड-19 के कारण यह लीग अभी स्थगित है।

भारत फैंटेसी स्पोर्ट्स का बड़ा बाजार बनेगा: अमिताभ
नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भारत फैंटेसी स्पोर्ट्स इंडस्ट्री का ग्लोबल चैंपियन बन सकता है। इसके अलावा इसमें नौकरी की भी अच्छी संभावनाएं हैं। एफआईएफएस के स्ट्रेटजिक एडवाइजर अमृत माथुर ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से खेलों के नहीं होने से काफी बुरा प्रभाव पड़ा है।

देश में यदि खेल फिर से शुरू होता है तो फैंटेसी स्पोर्ट्स की वापसी हो सकती है। लेकिन इन सबके बीच इन्हें जांचने के लिए एक उचित माध्यम बनाना होगा। पिछले दिनों श्रीलंका की लीग बताकर मोहाली में एक टी20 लीग कराई है। फैन कोड पर इसकी लाइव स्ट्रीमिंग भी की गई। हालांकि इसकी जांच पुलिस और बीसीसीआई की ओर से की जा रही है।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close