Sports

Chris Gayle say Test cricket is Ultimate, teaches how to live life Gayle News Updates | क्रिस गेल ने कहा- 5 दिन क्रिकेट खेलना बड़ी चुनौती, इसमें जीवन जीने का अनुभव मिलता है

  • वेस्टइंडीज के ओपनर क्रिस गेल ने 103 टेस्ट में 42.19 की औसत से 7215 रन बनाए हैं
  • गेल ने कहा- टेस्ट क्रिकेट आपको स्किल्स और मेंटल टफनेस को परखने का मौका देता

दैनिक भास्कर

Jun 23, 2020, 08:55 PM IST

क्रिकेट में सीमित ओवरों के खेल के महारथी क्रिस गेल ने टेस्ट को सबसे अच्छा फॉर्मेट बताया है। वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर गेल ने कहा कि 5 दिन क्रिकेट खेलना बड़ी चुनौती होती है। इसमें मैदान के बाहर जीवन जीने का अनुभव मिलता है। गेल ने बीसीसीआई के ऑनलाइन शो पर भारतीय ओपनर मयंक अग्रवाल के साथ चैटिंग की।

विंडीज के ओपनर गेल ने 103 टेस्ट में 42.19 की औसत से 7215 रन बनाए हैं। उनके नाम 300 वनडे में 10480 और 58 टी-20 में 1627 रन हैं। गेल ने आईपीएल के 125 मैच में 4484 रन बनाए हैं।

मुश्किल परिस्थिति में लड़ना सिखाता है टेस्ट मैच
गेल ने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट सबसे बेहतरीन है। यह मैच आपको जीवन जीने का अनुभव सीखने का मौका देता है, क्योंकि 5 दिन तक क्रिकेट खेलना चुनौती होती है। यह आपको कई बार चेक भी करता है कि आपने जो कुछ किया, उसमें आप अनुशासित थे या नहीं। साथ ही यह आपको मुश्किल परिस्थिति में लड़ना और जीतना भी सिखाता है।’’

‘खिलाड़ी के पास कई मौके होते हैं, उदास न हों’
गेल ने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट आपको अपनी स्किल्स और मेंटल टफनेस को परखने का मौका देता है। बस समर्पित हो जाओ, जो तुम करते हो उसका मजा लो। एक बात हमेशा याद रखें कि यदि एक चीज काम नहीं करती है, तो आपके पास कई और मौके भी होते हैं। इसलिए यदि क्रिकेटर रहते हुए सफल नहीं होते तो दिल मत तोड़ो।’’

सचिन के संन्यास पर रो दिए थे गेल
सचिन तेंदुलकर ने 2013 में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ करियर का आखिरी और 200वां टेस्ट मैच खेला था। मैच के बाद संन्यास की घोषणा करते हुए उन्होंने एक स्पीच दी थी, जिसे सुनकर गेल रोने लगे थे। यह खुलासा हाल ही में वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर किर्क एडवडर्स ने किया था। इस मैच में भारतीय टीम ने डैरेन सैमी की कप्तानी वाली वेस्टइंडीज को पारी और 126 रनों से हराया था।




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close