Uncategorized

होटल के मीटर को धीमा कर हो रही थी बिजली चोरी, डिस्कॉम ने लगाया 2 करोड़ 30 लाख का जुर्माना




(श्यामराज शर्मा)।जयपुर डिस्कॉम की मीटर और विजिलेंस विंग ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए खासाकोठी सबडिविजन के पोलोविक्ट्री इलाके के एक होटल में दो करोड़ 30 लाख की बिजली चोरी पकड़ी है। होटल के मीटर की सील से छेड़छाड़ के बाद मीटर विंग के एक्सईएन रविंद्र चौधरी ने विजिलेंस विंग को बुलाया। होटल के लोड के अनुसार विजिलेंस विंग ने दो करोड़ 30 लाख का जुर्माना लगा कर वीसीआर भरी है। साथ ही होटल का कनेक्शन काट कर मीटर उतार लिया है। अब जुर्माना जमा होने के बाद ही बिजलली सप्लाई बहाल की जाएगी।

शहर में सबसे बड़ी बिजली चोरी
शहर में अब तक की सबसे बड़ी बिजली चोरी बताई जा रही है। डिस्कॉम चैयरमैन अजिताभ शर्मा व जयपुर डिस्कॉम के एमडी एके गुप्ता के निर्देशों के बाद मीटर विंग व विजिलेंस विंग ने चैकिंग तेज कर दी है। डिस्कॉम की मीटर विंग के एक्सईएन रविंद्र चौधरी व जेईएन पूनम सिंह गुरुवार को रूटीन चैकिंग पर होटल महारानी प्राइम (होटल शान) पर गए थे। उन्हें मीटर की सील संदिग्ध नजर आई। इस पर एक्सईएन ने मीटर बॉक्स खोल कर जांच की तो दंग रह गए। मीटर में टेस्ट टर्मिनल ब्लॉक में छेड़छाड़ कर मीटर को 44 फीसदी धीमा कर रखा था।

आशंका है कि मीटर में कुछ उपकरण लगाया हुआ है। अब मीटर की लैब में जांच की जाएगी। मीटर विंग के एक्सईएन ने विजिलेंस विंग के अधीक्षण अभियंता बीएल जाट, एक्सईएन विमल माचीवाल व एक्सईएन महेंद्र गोदारा को मौके पर बुलाया। इसके बाद बिजली चोरी की वीसीआर(विजिलेंस चेकिंग रिपोर्ट) भरी गई।

पहले मार्च 2019 में हुई थी जांच

प्रदेश में एचटी कनेक्शन व ज्यादा लोड वाले उपभोक्ताओं के मीटर की हर साल जांच की जाती है। इस होटल के कनेक्शन की भी मार्च 2019 में जांच की गई थी। इस साल लॉकडाउन के कारण मार्च में जांच नहीं हो सकी। होटल का स्वीकृत भार 356 किलोवॉट है और कॉन्ट्रेक्ट डिमांड 190 केवीए है। आशंका जताई जा रही है कि मार्च 2019 के बाद ही मीटर से छेड़छाड़ कर धीमा किया गया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


होटल महारानी प्राइम (होटल शान) में मीटर को धीमा कर बिजली चोरी की जा रही थी। वीसीआर भरते डिस्कॉम के अधिकारी।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close